Black Hat SEO & White Hat SEO kya or ke beech kya Antar hai?

#.Meta Title और Description क्या और SEO में optimize कैसे करें?

#. SEO क्या होता है और उसका सोशल साइट में क्या काम होता है

Black hat SEO एक ऐसी तकनीक है जिसे किसी साईट के लिए पसंद नहीं किया जाता है और SEO की दुनिया में गलत माना जाता है। जबकि White hat SEO techniques black hat SEO के बिल्कुल opposite होती है और SEO की दुनिया में हमेशा इनका उपयोग किया जाता है। जब कोई नया ब्लॉगर अपनी website ranking को सुधारने के लिए Backlinks के बारे में पहली बार पढ़ता हैं, तो वे किसी भी Low Quality जैसी वेबसाइटों से बैकलिंक को खरीद लेते हैं। और बाद में उन्हें पता चलता है कि ये लिंक Spam websites के होते हैं जो आपके site ranking को अच्छा करने के बजाये और भी खराब कर देते हैं। अच्छी ranking प्राप्त करने का भी कोई shortcut नहीं होता है। Website की ranking बढाना एक धीमा process है और इसके लिए बहुत सारी चीजों पर काम करना होता है।

Black Hat SEO और White Hat SEO के बीच अंतर-

Black Hat SEO –

1. यदि आप अपने ब्लॉग पर Blackhat SEO techniques का यूज़ उकरते हैं, तो वे लंबे समय तक काम नहीं करता हैं और उन्हें सर्च इंजन द्वारा ब्लैकलिस्ट कर दिया जाता है।

2. Cloaking- ब्लॉगर search engine व visitors के लिए एक ही page के दो version बना देते हैं। जब search engine spider or boat इन pages को crawl करता है तो यह पेज बनाने के लिए काफी तो होता है लेकिन visitors को display कुछ और ही होता है। यह Process Cloaking कहलाता है। और ये Black Hat Seo के अंतर्गत आता है ये SEO के लिए गलत है।

3. Mirror Websites- इसमें वह वेबसाइट गिनी जाती है जो इस process में एक व्यक्ति द्वारा कई सारी websites अलग-अलग domain name के साथ बनाता है लेकिन उन सभी में एक ही तरह का content होता है उसे हम Mirror Websites कहते हैं ये SEO के लिए गलत है और ranking को प्रभावित करते हैं।

4. Keyword SEO- Keyword SEO तकनीकों का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है और अधिकांश SEO ब्लॉगर किसी भी कंटेंट के लिए 2-2.5% keyword density पसंद करते हैं। और इससे अधिक का सर्च इंजन का उपयोग करते हैं तो इसे भी Keyword Stuffing माना जाएगा।

5. Meta Tag SEO किसी भी SEO process में, एक meta tag keyword आपके content को इंगित करता है। और यदि आप meta tag keyword का उपयोग मैं content में बहुत अधिक यूज़ करते है तो उसे meta tag stuffing कहा जाता है।

6. Low Quality Pages- आप अपने ब्लॉग की low quality web pages हैं जिनके पास enough content नहीं है और लेकिन कीवर्ड से भरपुर रहते है अर्थात keywords stuffing कहा जाता है।

7. Page Hijacking- पेज हाइजैकिंग एक ऐसी technique है जो क्रॉलर के सामने original content की तरह served करती है। लेकिन यह उपयोगकर्ता को बुरा या धोखाधड़ी वाली वेबसाइट पर भेज देता है।

White Hat SEO-

1. आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को search engine friendly बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक को white hat SEO  कहा जाता है। और जो सभी SEO ब्लॉगर द्वारा recommended होती है।

2. Good content quality- किसी भी वेबसाइट के लिए Content एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसलिए search engines and visitors के लिए good quality content publish करें, जो जानकारीपूर्ण और सहायक हैं।

3. Copy Content- White hat SEO techniques के अनुसार अपने ब्लॉग पर copies content publish नहीं करें। bots or crawlers and visitors को original content प्रदान करें।

4. Search Engine- website page ranking में सुधार के लिए प्रयोग किया जाता है। जो आपकी वेबसाइट को सफल बनाने में मदद करता है और अगर आप search engines guidelines का पालन नहीं करते हैं, आपकी वेबसाइट की SEO नहीं हो पाएगी।

यदि आपको लगता है कि यह Black Hat SEO vs White Hat SEO आर्टिकल आपके लिए जानकारीपूर्ण है, तो इसे Twitter, Google+ and Facebook पर Share करें और subscribe करें।

admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *