भारतीय वायुसेना दिवस 86 वीं वर्षगांठ 8/10 2018

वायुसेना का प्रतिनिधित्व करता है रक्षा मंत्रालय
भारतीय सशस्त्र सेना

मुख्यालय

नई दिल्ली, भारत
आदर्श वाक्य नभःस्पृशं दीप्तम्
रंग गहरा नीला, हलका नीला और सफेद
वायु दिवस वर्षगाँठ 8 अक्टूबर
वेबसाइट indianairforce.nic.in
चीफ ऑफ़ एअर स्टाफ एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ
प्रसिद्ध सेनापति वायु सेना मार्शल अर्जन सिंह
आक्रमण सेपेकाटा जगुआर, मिग 27, आईएआई हरपी
विद्युत चेतावनी बाईवर ए 50 ई / एआई
वारिकल एयरक्राफ्ट एसयू -30 एमकेआई, हैल तेजास, मीराज़ 2000, मिग -2 9, मिग -21
हेलीकॉप्टर ध्रुव, चेतक, चीता, एमआई -8, एमआई -17, एमआई -26, एमआई -25 / 35
प्रशिक्षक विमान 32 लैंप, हेज़ेटी -16 रे, बीएई एचओसी
माल विमान 76, एन -32, एचएस एचएस 748, डू 228, बोइंग 737, ईआरजे 135, आईएल -78 एमकेआई

 

भारतीय वायुसेना का आज से 86 वर्ष पहले आज ही के दिन 8 अक्टूबर 1932 भारतीय वायुसेना की स्थापना हुई थी। इसी मौके को याद करते हुए हर साल इस दिन को भारतीय वायुसेना दिवस के रूप में मनाया जाता है। Indian Air Force भारतीय सशस्त्र सेना का एक अंग है जो वायु युद्ध, वायु सुरक्षा, और वायु चौकसी का महत्वपूर्ण काम देश के लिए करती है।

भारत के आजादी 1950 में पूर्ण गणतंत्र घोषित होने से पहले इसे रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था। भारत के आजाद होने के बाद इसमें से ‘रॉयल’ शब्द हटाकर सिर्फ Indian Air Force कर दिया गया। आज भारतीय वायु सेना के 86 साल पूरे होने के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने बधाई दी है। और ट्वीट करते हुए कहा, ‘‘वायु सेना दिवस पर वायु सैनिकों की बहादुरी, शौर्य और पराक्रम के लिए उन्हें सलाम। वे हमारे आसमान के प्रहरी हैं- राष्ट्रपति कोविन्द।’’

भारतीय वायुसेना से जुड़ी कुछ खास जानकारी-

भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना है। 2017 के अनुसार भारतीय वायुसेना के पास कुल मिलाकर 1,70000 जवान और 1350 लड़ाकू विमान हैं जो अब बढ़ गई है। अमेरिका, चीन और रूस के बाद भारत में सबसे बड़ी वायुसेना मौजूद है।

वायुसेना हर साल 2,40,000 Flying Hours निकालती है।

भारतीय वायुसेना के पास 616 लड़ाकू विमान, 359 हेलीकॉप्टर, 33 अटैक हेलीकॉप्टर और 182 ट्रेनर एयरक्राफ्ट है।

वायुसेना ने कारगिल जंग के दौरान हिमालय में 14 से 18 हजार फुट की ऊंचाई पर दुश्मनों को मार गिराया।

भारतीय वायुसेना के 60 से ज्यादा एयरबेस हैं जो देश के हर कोने में स्थित हैं।

भारतीय वायुसेना में पहली महिला एयर मार्शल थी पद्मावति बंदोपाध्याय। 1971 में भारत पाकिस्तान के युद्ध के दौरान उनके काम के लिए उन्हें विशिष्ट सेवा मैडल से नवाज़ा गया था।

साल 1990 में पहली बार महिलाओं को भी सशस्त्र बल में शामिल किया गया, लेकिन उन्हें शार्ट सर्विस कमीशन ऑफिसर के तौर पर सिर्फ 14 से 15 साल तक ही सर्विस देने की अनुमति दी गई। साल 1990 में ही पहली बार चॉपर और ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट उड़ाने वाले दल में महिलाओं को शामिल किया गया।

भारतीय वायु सेना में पांच कमानें हैं। नई दिल्ली में पश्चिमी कमान, इलाहाबाद में केंद्रीय (मध्य) कमान, शिलांग में पूर्वी कमान, जोधपुर में दक्षिण पश्चिमी कमान और तिरुअनंतपुरम में दक्षिणी कमान है।

भारत के राष्ट्रपति भारतीय वायुसेना के कमांडर इन चीफ होते हैं। भारतीय वायुसेना के दायित्व ओर उसके मिशन को सशस्त्र बल अधिनियम 1947 के द्वारा पारिभाषित किया गया है।

सभी संभावित खतरों से भारतीय हवाई क्षेत्र की रक्षा करना, सशस्त्र बलों की अन्य शाखाओं के साथ सामंजस्य स्थापित कराना और राष्ट्रीय हितों की सुरक्षा भारतीय वायुसेना की प्राथमिक जिम्मेदारी है। भारतीय वायुसेना युद्ध के मैदान में भारतीय सेना के सैनिकों को हवाई समर्थन तथा सामरिक और रणनीतिक एयरलिफ्ट करने में भी सहयोग देती है।

                                                                         *******************************************

#.यदि आपको लगता है कि “भारतीय वायुसेना दिवस की तैयारी शुरू 2018 News” आर्टिकल आपके लिए जानकारीपूर्ण है, तो इसे Twitter, Google+ and Facebook पर Share करें और subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *