Which is the best in TFT- IPS and Super AMOLED screens

टीएफटी, आईपीएस और सुपर AMOLED स्क्रीन में सबसे अच्छा कौन सा है?

यदि आप स्मार्टफोन उपयोगकर्ता हैं तो आप मोबाइल फोन की डिस्प्ले स्क्रीन के बारे में जानते ही है। इन डिस्प्ले स्क्रीन का उपयोग कई उपकरणों जैसे लैपटॉप से ​​मोबाइल और कंप्यूटर आदि में किया जाता है। चूंकि डिस्प्ले टेक्नोलॉजी जैसे-जैसे बदलाव हुआ है वैसे वैसे हमारे सामने बढ़िया से बढ़िया डिस्प्ले स्क्रीन बनने लगी और इसी बदलाव से हमारे सामने बदल आज एक शानदार डिस्प्ले स्क्रीन सुपर एमोल्ड डिस्प्ले स्क्रीन है। अब कंपनियां ऐसी स्क्रीन बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं जिसमें मोबाइल फोन की डिस्प्ले स्क्रीन को स्क्रैच और टूटने फूटने से बचाया सकता है।

फिलहाल बाजार में तीन प्रकार की डिस्प्ले स्क्रीन हैं, टीएफटी, आईपीएस और सुपर एमोलेड डिस्प्ले स्क्रीन के बारे में बताने जा रहे हैं और हम यहां यह भी जानेंगे कि कौन सी स्क्रीन डिस्प्ले के लिए सबसे अच्छी है। क्योंकि कई बार लोग नहीं पता होता है कि कौन सी स्क्रीन सबसे अच्छी है।

डिस्प्ले स्क्रीन का पुरा नाम-

  1. T F T का Full Formथिन फिल्म ट्रांजिस्टर (Thin Film Transistor)
  2. I P S का Full Formइन प्लेन स्विचिंग (In-Plane Switching)
  3. Amoled का Full Formएक्टिव मैट्रिक्स ऑर्गेनिक लाइट इमिटिंग (Active-Matrix Organic Light-Emitting)

T F T (टी एफ टी) डिस्प्ले –

T F T डिस्प्ले प्रारंभिक फोन में देखने को मिलती है। सबसे सस्ते और प्रवेश स्तर के फोन में टीएफटी डिस्प्ले होते हैं। ये डिस्प्ले बहुत सस्ते हैं और साथ ही गुणवत्ता भी अच्छे नहीं होती है। यही कारण है कि यदि आप एक सस्ते फोन खरीदने की सोच रहे हैं, तो उसमें एक टीएफटी डिस्प्ले है, तो उसे न खरीदें।

I P S (आई पी एस) एलसीडी डिसप्ले-

I P S एलसीडी और सुपर अमोल्ड दोनों के डिसप्ले उत्कृष्ट हैं, लेकिन फिर भी दोनों के बीच एक अंतर है। जबकि आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले थोड़ी मोटी है, सुपर अमोल्ड डिस्प्ले काफी पतली है और ये फोन बहुत पतले भी होते हैं। आईपीएस एक सस्ता डिसप्ले होता है और यह मध्य-बजट स्मार्टफोन में होता है। इस प्रदर्शन की गुणवत्ता में सभी रंग आपको प्राकृतिक दिखते हैं। न सिर्फ रूम लाइट बल्कि सन लाइट में भी IPS LCD में कलर अच्छे से नजर आते हैं, क्योंकि IPS LED में बेक लाइट होती है जो पूरी स्क्रीन को ऑन रखती है। आईपीएस एलसीडी में फोन की बैटरी जल्दी डाउन होती है, क्योंकि जब फोन की स्क्रीन ऑन होती है तो आईपीएस एलसीडी सारी ऑन होती है जिस से की ज्यादा पावर लेती है, वहीं सुपर एमोलेड डिसप्ले में ऐसा नहीं होता है। कमरे की रोशनी में बल्कि सूरज की रोशनी में, रंग आईपीएस एलसीडी में अच्छी तरह से देखे सकते हैं। क्योंकि आईपीएस एलईडी में बैक लाइट होता है जो पूरी स्क्रीन को चालू रखती है। फोन की बैटरी आईपीएस एलसीडी द्वारा जल्दी से कम कर देती है, क्योंकि जब फोन की स्क्रीन चालू होती है, तो आईपीएस एलसीडी पूरी पावर लेती है।

सुपर एमोलेड डिसप्ले-

सुपर अमोल्ड डिस्प्ले ज्यादातर उच्च बजट फोन में आता है। यही कारण है कि आपको सुपर अमोल्ड डिस्प्ले के लिए महंगे फोन खरीदने की ज़रूरत होती है। सुपर अमोल्ड डिस्प्ले का रंग आंखों के लिए अच्छे हैं। सुपर एमोलेड स्क्रीन के साथ आने वाले स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ अच्छी होती है, क्योंकि फोन की सिर्फ उतनी ही स्क्रीन ऑन होती है, जितने में कलर नजर आएं। जैसे अगर स्क्रीन में डार्क कलर का इमेज है, तो फोन बहुत कम पावर लेता है।



#.यदि आपको लगता है कि टीएफटी आईपीएस और सुपर AMOLED स्क्रीन में सबसे अच्छा कौन सा है आर्टिकल आपके लिए जानकारीपूर्ण है, तो इसे Twitter, Google+ and Facebook पर Share करें और subscribe करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *